Usool E Deen

उसूले दीन

—–
सवाल : अक़ली दलीलों से उसूल दीन को साबित करें ?
जवाब : उस के लिए आप को तफ्सीली किताबों की तरफ रुजू करना पड़ेगा , अल्लाह तालह के वुजूद पर नमूने के तौर पर हम यहाँ सिर्फ एक अक़ली दलील का ज़िक्र कर रहे हैं और वोह है बुरहान निज़ाम  , जिस में इंसान मलूल से इल्लत का पता लगता है , हम इस दुनिया में एक ख़ास निज़ाम व तरतीब और मोहकम व मूतक़न तबी क़वानीन का मुशाहिदा करते हैं और उस के ज़र्रा ज़र्रा (एटम) में एक ख़ास निज़ाम पाते हैं और ऐसे ही बे वजह में इत्तेफाकी तौर पर उस निज़ाम व तरतीब का वुजूद में अजाना मुहाल है लिहाज़ा उस के लिए किसी खालिक़ , मुदाब्बिर , हकीम , आक़िल  और क़ादिर होना ज़रूरी है

Source : http://www.sistani.org/urdu/qa/01730/
Marja E Taqleed : Ayatollah Sayyid Ali Sistani