ahle kitab

अहले किताब

——-
सवाल : अहले किताब और ज़रतशतियों  का क्या हुक्म है ?
जवाब : पाक हैं

सवाल : नजिस और पाक होने के ऐतेबार से अरमनी घरानों के साथ मेल जोल रखना कैसा है ? और यह जो कहा जाता है के अहले किताब पाक है क्या यह सही है ?
जवाब : हाँ सही है

सवाल : दुसरे मुमालिक में रहने वाले इसाई और यहूदी पाक है या नजिस ? क्या उन के साथ रहने में कोई हर्ज है ? और उन के हाथ की हलाल गिज़ा खाने का क्या हुक्म है ?
जवाब : इसाई व यहूदी व ज़रतश्ती  ( पारसी ) पाक हैं और उन के बग़ैर गोश्त  वाले खाने खाए जा सकते हैं कोई हर्ज नहीं है और अगर इस बात का यकीन हो के उस खाने में जो गोश्त है वोह मज्की है तो गोश्त वाले खाने खाने में भी कोई हर्ज नहीं है

सवाल : मैं हिंदुस्तान के सफ़र पर जाने वाला हूँ , मेरा सवाल यह है के क्या वहां के हिन्दू (बुत परस्त ) , इसाई और ज़रतश्ती (पारसी) नजिस हैं ? उन के साथ मुआशरत का क्या हुक्म है ? क्या उन घरों पर खाना खाना जाएज़ है ?
जवाब : इसाई और ज़रतश्ती पाक हैं , उन के या दुसरे कुफ्फार ग़ैर अहले किताब के साथ खुद मुआशरत करने में कोई हर्ज नहीं है

सवाल : इरान में रहने वाले अहले किताब का क्या हुक्म है ? और क्या उन के प्रोडक्शन (सोसीस का लिबास ) इस्तेमाल करना जाएज़ है या नहीं ?
जवाब : उन पर तहारत का हुक्म लगेगा और अगर वोह मुसलमानों के बाज़ार से खरीदे जाएँ  तो उन्हें इस्तेमाल करने में कोई हर्ज नहीं है

सवाल : क्या अहले किताब औरत से बग़ैर अकद के नजदीकी की जा सकती है ?
जवाब : बग़ैर अकद के जाएज़ नहीं है

सवाल : अहले किताब से शादी या मुता करना कैसा है ?
जवाब : मुस्लमान मर्द का अहले किताब से शादी करना , अह्तेयाते वाजिब की बिना पर जाएज़ नहीं है | हाँ उन से मुता करना जाएज़ है इस शर्त के साथ के मुस्लमान बीवी का शौहर न हो , वरना उस की इजाज़त के बग़ैर  मुता करना सही नहीं होगा बल्की एह्तेयात वाजिब यह है की इजाज़त के बग़ैर  भी जाएज़  नहीं है

सवाल : कुफ्फार (अहले किताब व ग़ैर अहले किताब ) के साथ मुआमला करना शरा क्या हुक्म रखता है ?
जवाब : कोई हर्ज नहीं है

सवाल : इसाई या यहूदी किसी गीली चीज़ को हाथ लगा दे तो क्या वोह नजिस हो जाएगी ?
जवाब : अयातुल्ला सिस्तानी (द.ज़) की नज़र में अहले किताब पाक हैं

सवाल : अगर यहूदियों और इसाईओं का यह ऐतेक़ाद हो की हज़रत अज़ीज़ (अ) और हज़रत इसा (अ) अल्लाह के बेटे हैं , इस सूरत में वोह नजिस है या पाक ?
जवाब : पाक हैं

सवाल : क्या यहूदियों और इसाईओं के हाथ पाक हैं ?
जवाब : पाक हैं मगर यह के वोह किसी नजिस चीज़ के लगने से नजिस हो गए हों

सवाल : क्या कुफ्फार नाजिसुल ऐन हैं ?
जवाब : हाँ , अहले किताब काफिरों को छोड़ कर सारे नाजिसुल ऐन हैं

सवाल : क्या काफ़िर नाइ से बाल और दाडी बनवाई जा सकती हैं ?
जवाब : अगर इस के हाथ गीले हों तो नमाज़ के लिए पाक करना पड़ेगा

सवाल : क्या ऐसा बर्तन इस्तेमाल किया जा सकता है जिसे किसी अहले किताब (इसाई व यहूदी) ने इस्तेमाल किया हो ? और क्या काफ़िर किताबी भी दुसरे काफिरों की तरह नाजिस है ?
जवाब : काफ़िर किताबी पाक है

Source : http://www.sistani.org/urdu/qa/01738/
Marja E Taqleed : Ayatollah Sayyid Ali Sistani